जागरणसंवाददाता,कोटद्वार

काशीरामपुरतल्लास्थितप्रतापसिंहनेगीसरस्वतीशिशुमंदिरकावार्षिकोत्सवरंगारंगसांस्कृतिककार्यक्रमोंकेसाथसंपन्नहोगया।समारोहमेंस्कूलीबच्चोंनेदेशकेविभिन्नप्रांतोंकेलोकनृत्योंकीमोहकप्रस्तुतियांदेकरअनेकतामेंएकताकेरंगबिखेरे।

विद्यालयपरिसरमेंआयोजितसमारोहकीशुरूआतवनएवंपर्यावरणमंत्रीडॉ.हरकसिंहरावतवविद्याभारतीकेजिलासंभागनिरीक्षकभगवतीप्रसादचमोलानेदीपप्रज्वलनकरकी।इसकेबादस्कूलीबच्चोंनेगणेशवंदनादेवाश्रीगणेशा..कीप्रस्तुतिदी।सांस्कृतिककार्यक्रमोंकेदौरानबच्चोंनेचंदानेपूछातारोंसे..गढ़वालीलोकनृत्यछाल-कपटह्वैजालू..,बेडूपाकोबारामास..सहितदेशभक्तिगीतमांतुझेसलाम..फिरभीदिलहैहिदुस्तानी..कीप्रस्तुतिदेकरलोगोंकोप्रेरितकिया।साथहीनेपालीनृत्यहेकांछीकीप्रस्तुतिकोभीदर्शकोंनेखूबसराहा।

कार्यक्रममेंबतौरमुख्यअतिथिकाबीनामंत्रीडॉ.हरकसिंहरावतनेबच्चोंकोअनुशासनकेसाथजीवनमेंतयलक्ष्योंकोपानेकेलिएईमानदारीसेप्रयासकरनेकेलिएप्रोत्साहितकिया।कहाकिअनुशासितबच्चेहीभविष्यमेंअपनेमाता-पितावक्षेत्रकानामरोशनकरतेहैं।उन्होंनेअभिभावकोंसेभीपाल्योंकोअच्छेसंस्कारदेनेकाआह्वानकिया।कहाकिविद्याभारतीअपनेविद्यार्थियोंकोसंस्कारितकरतीहै,लेकिनबच्चेमेंयहसंस्कारताउम्रजीवितरहें,इसकीजिम्मेदारीमाता-पिताकीहै।विद्यालयप्रबंधसमितिकेअध्यक्षगोपालबंसलकीअध्यक्षतामेंआयोजितसमारोहमेंप्रधानाचार्यरणवीरलालनिर्मोही,व्यवस्थापकडॉ.घनानंदशर्मा,हरिचरणचतुर्वेदी,संकुलप्रमुखभगवानसिंहरावत,अमितगुप्ता,अतुलअग्रवाल,चंद्रप्रकाशनैथानी,विनोदरावत,पंकजअग्रवाल,अनिरुद्धअग्रवाल,सुमनकोटनाला,जोतसिंहबिष्टआदिमौजूदरहे।संचालनधर्मेंद्ररावतनेकिया।