जेएनएन,मुजफ्फरनगर।पुरकाजीकस्बेमेंबजरंगदलकेकार्यकर्ताओंनेश्रीठाकुरद्वारामंदिरमेंहवन-पूजनकरबाजारमेंप्रसादवितरितकिया।बतायागयाकिगीताजयंतीकोशौर्यदिवसकेरूपमेंमनायाजाताहै।

मंदिरपरिसरमेंपंडितअनुजशर्मानेमंत्रोच्चारणसेहवनकिया,जिसमेंनगरवासियोंवकार्यकर्ताओंनेआहुतिडाली।बजरंगदलकेजिलासंयोजकपीयूषराणानेबतायागीताजयंतीकादिनहिदूसमाजकेलिएशौर्यदिवसहै।बतायाकिछहदिसंबर,1992कोगीताजयंतीकेदिनहीअपमानकेप्रतीकविवादितढांचेकोनष्टकियागयाथा।यहांअबप्रभुश्रीरामकेभव्यमंदिरनिर्माणकोलेकर15जनवरीमकरसंक्रांतिसे15दिनकेजनसंपर्कअभियानकेलिएहमसंकल्पबद्धहैं।कहाकिप्रभुश्रीरामदुनियाकेआराध्यहैंऔरहमबड़ेभाग्यशालीहैंजो492वर्षोकेबादइसऐतिहासिकक्षणकोदेखरहेहैं।इसदौरानचौधरीवीरेंद्रसिंह,विपिनवर्मा,अंकुरशर्मा,अमनगोयल,अंकितपाल,सौरभमित्तल,मनीषसैनी,विकासपाल,अरुणमित्तल,सुमित,दीपकभटनागर,मोहितपाल,मोनू,नरोत्तमउपाध्याय,आदित्यपाल,सुमितशर्मा,अंकितराजपूतवआकाशप्रजापतिआदिलोगमौजूदरहे।मोरारीबापूनेकियामहापुरुषोंकोनमन

जेएनएन,मुजफ्फरनगर।तीर्थनगरीशुकतीर्थमेंचलरहीश्रीरामकथाकेसातवेंदिनश्रीरामकथाकीअमृतवर्षाकरनेवालेविश्वविख्यातकथावाचकनेकहाकिआजअश्विनीमासकीएकादशीहै।बहुतहीमहत्वपूर्णदिनहै।गीताजयंतीभीहै।ब्रह्मलीनस्वामीशरणानंदमहाराजकानिर्वाणदिवसहै,जिन्हेंहमशत्-शत्नमनकरतेहैं।बापूनेशिक्षाविद्एवंसमाजसुधारकमहामनामदनमोहनमालवीयएवंपूर्वप्रधानमंत्रीअटलबिहारीवाजपेयीकीजयंतीतथाक्रिसमस-डेपरईसाईजगतकेईश्वरपुत्रयीशुकोभीशत्-शत्नमनकिया।