करनाल(विज्ञप्ति):17वर्षीयपरमवीरसिंहनेरविवारकोदेशभरके247बच्चोंकेसाथमिलकरनशाखोरीवबालशोषणकेविरूद्धएकनयाविश्वरिकार्डबनाकरकरनालकानामरोशनकरदिया।समाजमेंमहिलाओंवबच्चोंकोसबसेज्यादाप्रभावितकररहीइनसामाजिकबुराइयोंकेविरुद्धपरमवीरसिंहकीपहलपरबच्चोंनेएकअनूठाअभियानशुरूकियाहुआहै।स्पीकअपफ्रेंडसअभियानकेतहतदेशकेअलगअलगराज्योंके12-18वर्षकीआयुकेइनसामाजिककार्यकर्ताओंनेनशेवबालशोषणकेखिलाफसबसेलंबेवेबिनारकारिकार्डबनाया।जिसेव‌र्ल्डबुकआफव‌र्ल्डरिकार्डलंदनमेंशामिलकियाजाएगा।

निफाअध्यक्षप्रीतपालसिंहपन्नुकेपुत्रपरमवीरसिंहकीपहलपरबच्चोंनेइसदिनकोएकअनूठेढंगसेमनानेकानिश्चयकिया।नशाखोरीवबालशोषणभारतछोड़ोकेनारेकेसाथबच्चोंद्वाराविश्वकेसबसेलम्बेआनलाइनवेबिनारकीशुरुआतकी।परमवीरद्वाराशुरूकिएगएअभियानस्पीकअपफ्रेंडसकेतहतआठअगस्तकोअंग्रेजोंभारतछोड़ोदिवसकीमहत्तापरचर्चाकेसाथइसवेबिनारकीशुरूआतआठअगस्तकोकीगई,जोनिरंतरनौअगस्तसुबहचारबजेतकचला।जो22घंटेकेसमयकेसाथएकनयाविश्वरिकार्डबनगया।इसपूरेप्रयासमेंहरियाणा,हिमाचलप्रदेश,उत्तराखंड,राजस्थान,मध्यप्रदेश,उड़ीसा,बिहार,दिल्ली,गुजरात,उत्तरप्रदेश,आंध्रप्रदेश,तेलंगना,मिजोरम,नागालैंड,सिक्किम,तमिलनाडु,केरल,कर्नाटक,पंजाबवपश्चिमीबंगालकेकुल247बच्चोंनेभागलियाऔरनशाखोरीवबालशोषणकेखिलाफखुलकरविचारव्यक्तकिए।22घंटेतकलगातारचलेइसलाइववेबिनारकापरमवीरसिंहपन्नुनेसंयोजनकिया†ापानीपतकेवासुजैनवकोलकाताकीप्रत्युषानेसंयोजनमेंसहयोगकिया।

परमवीरसिंहपन्नुनेकहाकिस्पीकअपफ्रेंडसअभियानकाउद्देश्यबच्चोंकोनशेवबालशोषणके़खलिाफ़आवाजउठानेकेलिएप्रेरितकरनाहै,क्योंकिइनदोनोबुराइयोंकीवजहसेसबसेज्यादाशारीरिकवमानसिकप्रताड़नाकाशिकारबच्चोंकोहीहोनापड़ताहै।अगरआजकेबच्चेइनकेदुष्प्रभावोकेप्रतिजागरूकहोंगेतोजहांवेनशेसेदूररहेंगे,वहींबालशोषणपरचुपरहनेकीबजायउसकाखुलकरविरोधकरेंगे।