संस,पूरनपुर(पीलीभीत):बाबाबलजीतसिंहद्वारासीलगुरुद्वारेकेतालेतोड़करउसमेंकब्जाकरनेकाप्रयासकरनेकेमामलेमेंनायबतहसीलदारकीतरफसेपांचकोनामजदकरतेहुए65लोगोंपरगंभीरधाराओंमेंमुकदमादर्जकरायागयाहै।अधिकारीशीघ्रहीआरोपितोंकीधरपकड़करनेकीबातकहरहेहैं।

नायबतहसीलदारकीतरफसेदर्जकराएगएमुकदमेमेंकहागयाकिकीरतपुरजैनपुरकेगुरुद्वारेकोलेकरप्रथमपक्षअमरजीतसिंहहैऔरतृतीयपक्षबलजीतसिंहहै।जमीन,इमारतऔरगुरुद्वारेकेस्वामित्वकोलेकरवर्षोंसेविवादचलरहाहै।विवादपरपुलिसकी145सीआरपीसीरिपोर्टप्राप्तहोनेपरप्रशासनिकअधिकारियोंने146सीआरपीसीकेतहत30अगस्त2018कोभूमि,इमारतकुर्ककरनायबतहसीलदारकोरिसीवरनियुक्तकियाहै।इसआदेशकोलागूभीकरदियागयाथा।146सीआरपीसीकेबादप्रथमपक्षकेअमरजीतसिंहनेउच्चन्यायालयमेंरिटदाखिलकी।नायबतहसीलदारकोइलाहाबादमें29दिसंबर2018कोअपीलकेअनुक्रममेंआदेशपारितकियागया।परगनामजिस्ट्रेटकोविवादितगुरुद्वारेपरनियुक्तिआदेशकियागया।ग्रंथीनमिलनेपरवहांनियुक्तिनहींहुई।बलजीतसिंहनेसिविलन्यायालयमेंवाददायरकिया।उच्चन्यायालयकेआदेशसंबंधी29अक्टूबर2018कोपरगनामजिस्ट्रेटकेआदेशपर146सीआरपीसीकीकार्रवाईहुई।30अगस्त2018कोसंबंधिततथ्योंकोछिपाकरन्यायालयकोगुमराहकरतेहुएप्रथमपक्षकेअमरजीतनेकब्जाकरनेकेप्रयासकाआरोपलगाया।इसकीसुनवाईसिविलजजद्वारा12सितंबर2019कोनियतकीगई।प्रथमपक्षकोभीकब्जानकरनेकोआदेशितकियागया।मंगलवारकोदोपहरतीनसेचारबजेबाबाबलजीतसिंहनेअपनेसहयोगीरणजीतसिंह,हरजीतसिंह,मनप्रीतसिंह,अपनीमां,45पुरुषऔर15महिलाओंकेसाथएकरायहोकरसीलगुरुद्वारेकेतालेतोड़दिए।उसमेंरखेसामानकोखुर्दबुर्दकरदिया।सामानचुरालिया।सूचनापरनायबतहसीलदारपूरनपुर,कोतवालअतरसिंह,माधोटांडाकोतवालकेकेतिवारी,सेहरामऊकोतवालखीमसिंहजलाल,गजरौलाकोतवालनरेशकश्यप,सीओपूरनपुरकमलसिंह,सीओबीसलपुरप्रवीणमलिकवहांपहुंचगए।उससमयदोनोंपक्षफसादपरआमादाथे।महिलाओंकोबाहरनिकालनेकेलिएकहागयालेकिनवहनहींमानी।सरकारीकार्यमेंबाधाडाली।बलजीतसिंहकीमांनेमहिलाआरक्षीसंगीतापरहमलाकियाऔरअभद्रताकी।काफीसमझानेकेबादबाहरनिकालागया।रातमेंहीएडीएमन्यायिकदेवेंद्रप्रतापऔरएसडीएमरामदासकीमौजूदगीमेंगुरुद्वारेकोसीलकियाजासका।