आरसीएसएसकॉलेजबीहटकेसंगीतप्राध्यापकवबिहारकेजानेमानेप्रसिद्धनर्तकआचार्यसुदामागोस्वामीकोमंगलवारकेदिनबीहटकॉलेजकर्मियोंद्वाराविदाईसहसम्मानसमारोहआयोजितकरउन्हेंससम्मानविदाईदीगई।इसअवसरपरकॉलेजकेसचिववतेघड़ाविधायकरामरतनसिंहनेकहाकिसुदामागोस्वामीइसमहाविद्यालयमेंस्थापनाक़ालसेहीअपनाबहुमूल्यसमयएवंसेवादेतेआएहैं।

सांस्कृतिकगतिविधिकोआगेबढ़ानेमेंइनकामहत्वपूर्णयोगदानरहाहै।सैकड़ोंछात्र,छात्राएंसंगीतकीशिक्षालेकरसरकारीएवंगैरसरकारीसंस्थाओंमेंकार्यरतहैऔरसंगीतकेबदौलतकाफीप्रसिद्धपारहेहैं।ऐसेसंगीतआचार्यकोकॉलेजविदाईनहींबल्किसम्मानकरतेहुएहमउन्हेंआग्रहपूर्वककहनाचाहतेहैंकिवहजबतकहैं,इसकॉलेजमेंसेवाकरतेरहेंगे।जबतकविश्वविद्यालयसेकोईभीसंगीतप्राध्यापकनियुक्तनहींहोतेहैंतबतकवेइसकॉलेजमेंयोगदानकरतेरहेंगे,यहआशाऔरविश्वासहै।

वहींप्राचार्यडॉमानोरंजनप्रसादसिंहनेकहाकिआचार्यसुदामागोस्वामीजिलेहीनहींबल्किराज्यकेप्रसिद्धसंगीतआचार्यहमारेइसकॉलेजमेंकरीब40बरसोंतकसेवाकरतेरहे।कॉलेजइनकेप्रतिआभारीहैऔरआगेभीहमआशाकरतेहैंकिमहाविद्यालयकेबच्चोंकोसंगीतकीशिक्षादेतेरहेंगे।मौकेपरसचिवसहतेघड़ाविधायकरामरतनसिंहनेपुष्पगुच्छदेकरउन्हेंसम्मानितकिया।

वहींमिथिलांचलसंगीतमहाविद्यालयबीहटकेप्राचार्यअशोककुमारपासवाननेसंगीतगुरुसुदामाजीकोचादरसेसम्मानितकिया।विद्यालयकीछात्राकुमारीछवि,निशु,रूपालीनेशास्त्रीय,राष्ट्रीयएवंविदाईगीतकीभव्यप्रस्तुतिकरउपस्थितलोगोंकामनमोहलिया।मौकेपरतेघड़ाविधायकसहमहाविद्यालयसचिवरामरतनसिंह,प्राचार्यडॉमनोरंजनप्रसादसिंह,प्रोराणासंग्रामसिन्हा,प्रोरामविलाससिंह,प्रोसरोजानन्दझा,प्रोयदुवीरभारती,प्रोराजीवमिश्रा,प्रोमनोरंजनमिश्रा,प्रधानलिपिकविनोदकुमार,प्रोअर्जुनशर्मा,प्रोशशिभूषण,प्रोविद्यासिंह,प्रोसच्चिदानंद,प्रोमनीषकुमारझा,रविंद्रप्रसादसिंहप्रोराधाकृष्णसिंह,प्रोनूरहसन,प्रोराजेंद्रसिंह,प्रोराजीवनंदनझा,प्रोनिगराराय,आशासिंह,प्रोबिजलीसिंह,प्रोसीमा,प्रोआशुतोषशरण,प्रोहेमंतशर्मा,योगीसिंह,गणेशपासवान,विसुनुदेवदास,उपेन्द्रमिश्र,अरुणसिंह,उमेशसाह,कुमारीशोभा,कुमारीनीतू,योगेन्द्रसिंहमौजूदथे।