संवादसहयोगी,भभुआ।सावनमाहकीशुरूआतहोचुकीहै।सावनकेपहलेसोमवारकोभगवानभोलेनाथकीघरोंसेलेकरमंदिरोंतकपूजाकीगई।वहींकईजगहोंपरमंदिरोंमेंरूद्राभिषेकभीकियागया।सरकारकेनिर्देशपर मां मुंडेश्वरी धाममेंस्थितपंचमुखीशिवलिंगकेदर्शनपररोकलगादीगईहै।वहांपरपुलिसबलकी नियुक्तकीगईहै।

सोमवारकोकईजगहोंकेप्रमुखमंदिरबंदरहे।लेकिन,ग्रामीणक्षेत्रोंमेंशिवालयोंमेंपूजापाठकियागया।नगरमेंदेवीमंदिरकोबंदकियागयाथा।हालांकि,इसदौरानकोटेश्वरमहादेव,हजाराशिवलिंगकेअलावाग्रामीणक्षेत्रोंकेशिवालयोंमेंपूजाकीगई।अधिकांशमहिलाओंनेमुंहपरमास्कलगाकरभगवानभोलेनाथकाजलाभिषेककिया।कईजगहोंपरबिनामास्कलगाएहीमहिलाओंनेपूजाकी।जहांशारीरिकदूरीकाभीपालननहींकियागया।

वहींकईघरोंमेंशिवलिंगबनाकररुद्राभिषेककियागया।सोमवारको कुवांरी कन्याओंनेव्रतरखा।भगवानशिवशंकरको विल्व पत्र,धतूर,पुष्पचंदनअर्पितकरलोगोंने कोरोना वायरससेमुक्तिकीकामनाकी। बड़ी बातयहरहीकिइससालभीजिलेसेकोई बाबाबैजनाथधामकांवरलेकरनहींजापाएगा।इसकोलेकरश्रद्धालुओंमेंनिराशादिखाईपड़रहीहै,जबकि सामान्य दिनोंमेंजिलेसेलगातारबैजनाथधाम,विश्वनाथमंदिर, गुप्ताधाम आदिजगहोंपरकांवरलेकरजातेथे।

ज्ञातहोकिअप्रैलमाहसेहीजिलेमेंमंदिरबंदहै।इससेप्रसादबेचनेवाले दुकानदारोंमेंकाफीनाराजगीभीहै।सावनमाहमेंदुकानोंसेअच्छाखासामुनाफाआताथा।लेकिन,मंदिरबंदरहनेसेदुकानोंमेंआमदनीनकेबराबरहै।कोरोनासंक्रमणकालकेदौरानप्रसादबेचनेवालेदुकानदारोंकीदुकानेंबंदरहनेसेउनकोआर्थिकनुकसानउठानापड़रहाहैजिससेपरिवारकेलोगोंकाभरणपोषणकरनेमेंभीकाफीपरेशानीहोरहीहै।