संवादसूत्र,तलवंडीसाबो:गुरुकाशीयूनिवर्सिटीतलवंडीसाबोकेकालेजआफबेसिकसाइंसजएंडह्यूमैनिटीजकेराजनीतिशास्त्र,इतिहासऔरएनएसविभागकीतरफसेडीनडा.सतनामसिंहजस्सलकीअगुआईमेंशहीदभगतसिंहकाजन्मदिवसमनायागया।समारोहमेंमुख्यमेहमानकुलपतिडा.नीलमग्रेवालनेशहीदभगतसिंहकीप्रतिमापरफूलभेंटकिए।यहांइतिहासविभागकेमुखीडा.दलजीतकौर,प्रो.गुरजीतसिंहखालसा,लवलीनसचदेवा,करनवीरसिंह,समूहफैक्लटीमेंबरऔरविद्यार्थियोंमौजूदथे।

आसवेलफेयरसोसायटीकीओरसेप्रधानसुरिदरसिंहमानकीअगुआईमेंशहीदभगतसिंहपार्कमेंशहीदभगतसिंहका114वांजन्मदिवसमनायागया।नामदेवनगरमेंआयोजितइससमागममेंशहीदभगतकीप्रतिमापरफूलमालाएंअर्पितकीगई।इसमौकेपरसोसायटीकेसरप्रस्तमेजरसिंहसिद्धूनेकहाकिशहीदभगतसिंहकेजीवनसेहमेंसीखलेनेकीजरूरतहै।मनदीपकौररामगढि़यानेकहाकिआजकेयुवाशहीदभगतसिंहकेफैनतोबहुतहैंलेकिनउनकेविचारोंकोकोईलागूनहींकरता।युवाओंकोउनकेबताएमार्गपरचलकरदेशभक्तिकाजज्बाअपनेमनमेंरखनाचाहिए।यहांमेजरसिंहसिद्धू,सुरिदरसिंहमान,मेजरसिंहदादू,दीपकबंसल,गुरमीतसिंहरामगढि़या,सिमरनदीपसिंह,गुरप्यारसिंहआदिमौजूदथे।सोसायटीकेप्रधानसुरिदरसिंहमाननेसभीमेहमानोंकाधन्यवादकिया।

टीचर्सहोमट्रस्टकीतरफसेभगतसिंहकेजन्मदिवसपरजसपालमानखेड़ानेकहाकिजहांभगतसिंहकिताबकापन्नामोड़करछोड़गयाथाआजहमेंउससेआगेपढ़नाहोगा।इसदौरानमेंबरबीरबल,परमजीतरामां,प्रकाशचंद,रमेशकुमार,नत्थुराम,दिलबागसिंह,बिक्करसिंह,संदीपसिंहभीशामिलथे।

बाबाफरीदग्रुपआफइंस्टीट्यूटंशकेबाबाफरीदकालेजआफएजुकेशनमेंभाषणमुकाबलेकरवाएगए।भारतभूषणनेपहला,गुरपालसिंहनेदूसरावसिमरनकौरनेतीसरास्थानहासिलकिया।बाबाफरीदकेडिप्टीडायरेक्टरबीडीशर्मानेविजेताकोसम्मानितकिया।