संवादसूत्र,श्रीमुक्तसरसाहिब

शिक्षकोंकीमांगोंकीपूर्तितथाशिक्षामंत्रीद्वाराशिक्षकोंप्रतिप्रयोगकीगईशब्दावलीकेजबावदेनेकेलिएडेमोक्रेटिकटीचर्सयूनियनफ्रंटकीसूबाकमेटीकेआह्नानपरशिक्षादफ्तरकेसमक्षरोषरैलीकरशिक्षामंत्रीकापुतलाफूंकप्रदर्शनकियागया।

इसकेउपरांतपार्कमेंहुईरैलीकोसंबोधितकरतेहुएजिलाप्रधानलखवीरसिंहनेकहाकिहरघरमेंनौकरीकावादाकरनेवालीकांग्रेससरकारबेरोजगारशिक्षकोंकेमांगोंकोदबानेकीकोशिशकररहीहै।उन्होंनेकहाकिशिक्षकोंकीपदोन्नति,विभिन्नशिक्षकवर्गकेमसलेरूलरहेहै।सरकारविद्यार्थियोंकेपढ़ाईकेहकछीननेकेलिएनिजीकरणकीनीतियोंकोतेजीसेलागूकररहीहै।इसकेअलावाशिक्षकजोगिदरकौर,कुलदीपशर्मा,वरिदंरबहल,हरप्रीतहैरी,बूटावाकफनेबतायाकिपंजाबसरकारकीशिक्षाविरोधीनीतियोंशिक्षकोंवर्गहरगिजप्रवाननहींहै।उन्होंनेकहाकिअगरउनकीमांगोंकोजल्दपूरानहींकियातोसंघर्षकोऔरतीव्रकरेंगे।

इसमौकेपरसुरिदरसेतिया,मनोजबेदी,तरसेमसिंह,वरिदरजीतसिंह,जसविदरसिंह,गुरजीतसिंह,परमिदरसिंह,जगदीपसिंह,नरिदरबेदी,हरबंसलाल,कुलदीपसिंह,बलजीतसिंह,राजसिंह,बलविदरमक्कड़वगुरप्रीतसिंहभीउपस्थितथे।

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!