सतविद्रसिंह,कुरुक्षेत्रप्रदेशकेएकमात्रप्राचीनशक्तिपीठश्रीदेवीकूपभद्रकालीमंदिरकेपीठाध्यक्षसतपालशर्मामांभद्रकालीसेश्रद्धालुओंकेसुखकीकामनाकररहेहैं।सुबह-शाममंदिरसेलाइवआरतीप्रसारितकरवेश्रद्धालुओंकोमांभद्रकालीकेआशीर्वादसेजोड़रहेहैं।कोरोनावायरससेश्रद्धालुओंकोबचानेकेलिएमंदिरमेंपहलेसभीनियमोंकोपालनाकरायागयाऔरअबलॉकडाउनमेंमंदिरकेकपाटबंदकरकिएगएहैं।मंदिरकेअंदरवेस्वयंऔरपुजारीआरतीकरतेहैं।

राजधर्मकीहोरक्षा

पीठाध्यक्षसतपालशर्माकाकहनाहैकिमहामारीकेइससंकटकालमेंसभीभक्तोंकेलिएयहतपस्याकासमयहै।सभीधैर्यसेकामलेंऔरआत्मचितनकरें।देशकेप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीनेदेशकीजनतासेलॉकडाउनकेदौरानअपनेघरोंमेंरहनेकाआह्वानकियाहै।इसलिएराजाकीआज्ञाकापालनकरतेहुएराजधर्मकोनिभानाहोगा।घरमेंरहकरबच्चोंकोरामायणवमहाभारतजैसेधार्मिककार्यक्रमदिखाएंऔरउन्हेंइनकीशिक्षाएंदें,ताकिउनमेंबेहतरसंस्कारउपजें।मानवजातिकीरक्षाकेलिएअफवाहनहींबल्किजागरूकताफैलाएं

मानवजातिकीरक्षाकेलिएकामकरें।कोरोनाराक्षसहै,इसकेलिएजागरूकताफैलाएं।किसीतरहकीअफवाहनफैलाएं।लोगोंकोछोटीसीबातकाबवंडरबनजाताहै।जितनेभीचिकित्सक,स्वास्थ्यकर्मी,पुलिसकर्मीवसफाईकर्मीअपनेकार्याेंमेंलगेहैं।उनकेलिएभीप्रार्थनाकरेंकिमातारानीउन्हेंशक्तिप्रदानकरेंऔरसम्मानकरें।वेअपनेकार्यमेंसफलहों।वेहमारेलिएहीसड़कोंपरखड़ेहैं।मंदिरमेंफेसबुकसेहोरहीहैलाइवआरती

पीठाध्यक्षसतपालशर्माकाकहनाहैकिमंदिरसेसुबह-शामफेसबुकपरलाइवआरतीकीजारहीहै।सुबहछहबजेवशामकोसातबजेआरतीहोतीहै।जिसेश्रद्धालुदेख-सुनरहेहैं।जिससेसबकाध्यानपूजा-पाठमेंलगताहै।मांभद्रकालीनेरक्तबीजवमधुकटवजैसेराक्षसोंकावधकिया।मांकोरोनाराक्षसकाभीवधकरेगी,भारतमेंइसेहराएगी।

आर्थिकयोगदानकरें

भारतीयसंस्कृतिमेंभंडारोंकीपरंपरारहीहै।इसकेलिएदानकरनेकोलोगोंकोआगेआनाचाहिए,इससेपुण्यअवश्यमिलताहै।इसकेलिएहीआर्थिकरूपसेसंपन्नलोगोंकोभीआगेआकरदेशवप्रदेशहितमेंप्रधानमंत्रीराहतकोषरिलीफफंडवमुख्यमंत्रीराहतकोषमेंसहयोगराशिदेनीचाहिए।

पीठाध्यक्षसतपालशर्माजीकीदिनचर्या

-प्रात:चारबजेअपनेबिस्तरकोछोड़देतेहैं।पांचबजेआसनऔरप्राणायामकरतेहैं।साढ़ेपांचबजेस्नानकरतेहैंऔरछहबजेआरतीमेंशामिलहोतेहैं।

-आठबजेभोजनकरनेकेबादमंदिरमेंजाकरवहांकीव्यवस्थाकोदेखतेहैं।

-नौबजेमंदिरमेंहीपूजा-पाठकरतेहैं।

-दोपहरएकबजेदोपहरकाभोजनकरतेहैंऔरकुछदेरआरामकरतेहैं।

-तीनबजेफिरसेमंदिरमेंजाकरसैनिटाइजिंगकाकामदेखतेहैं।मंदिरकोदिनमेंतीनबारसैनिटाइजकियाजारहाहै।

-सातबजेसायंकालीनआरतीमेंशामिलहोतेहैं।आरतीमेंविश्वशांतिवकोरोनासेनिजातकेलिएमांभद्रकालीसेप्रार्थनाकरतेहैं।