जागरणसंवाददाता,जौनपुर:राष्ट्रीयस्वयंसेवकसंघकेप्रांतप्रचारकरमेशनेउत्सवमोटलपरिसरस्थितसभागारमेंसेवाभारतीद्वाराआयोजितश्रीरामकथाटोलीकोसंबोधितकरतेहुएकहाकिश्रीरामकथाआध्यात्मिकचेतनाकीअनुपमधरोहरहै।आजजिसगतिसेसामाजिकविषमताअनाचरणनैतिकमूल्योंऔरसंस्कारकाक्षरणहोरहाहै।इससेहमदेशकोपरमवैभवपरनहींबिठासकते।भारतकोपुन:विश्वगुरुकास्थानदिलानेकेलिएस्थान-स्थानपररामकथाकाआयोजनअत्यंतआवश्यकहै।

उन्होंनेकहाकिदेशकोविश्वगुरुबनानेकीकड़ीमेंत्रिलोचनमहादेवपरिसरमेंआगामी15से23मार्चतकविशालरामकथाआयोजितहोगी।तैयारियोंकोअंतिमरूपदेनेकेलिएजिलेस्तरपरचारस्तरीयटोलियांबनालीगईहैं।सेवाभारतीसमाजमेंसमताहीनहींसमरसतालानेकेलिएसततप्रयत्नशीलहै।सनातनपरंपराकापालनकरतेहुएमतांतरणकोरोकनेऔरसमाजमेभाईचारेकाअलखजगानेकेलिएलोगोंकोदलगतराजनीतिकीभावनाओंसेऊपरउठकररामकथाकीसफलताकेलिएप्रयासकरनाचाहिए।प्रांतप्रचारकनेकहाकिस्वस्थसमाजऔरसशक्तभारतकेनिर्माणमेंअपनाअमूल्ययोगदानकेलिएहमेंसदैवतत्पररहनाचाहिए।प्रांतसेवाप्रमुखपरमेश्वरनेसेवाप्रकल्पऔरश्रीरामकथाकीतैयारियोंपरविस्तारसेप्रकाशडाला।अध्यक्षताविभागसंघचालकमुरलीपालऔरसंचालनसंपर्कप्रमुखशैलेंद्रपांडेयनेकिया।आयोजकसंदीपसिंहप्रमुखऔरसंजीवसिंहनेसभीकेप्रतिआभारजताया।मुख्यरूपसेजिलासंघचालकडा.वेदप्रकाश,प्रांतकार्यवाहबांकेलाल,सहप्रांतप्रचारकमुनीश,प्रांतव्यवस्थाप्रमुखगौरीशंकर,विभागप्रचारकसंतोष,सेवाभारतीकेअध्यक्षराहुलसिंह,डा.संजयपांडेय,रविसिंह,पूर्वसांसदकेपीसिंह,धनंजयसिंह,अशोकसोनकर,कंचनसिंहआदिउपस्थितरहे।