संवादसूत्र,गिद्दी(रामगढ़):श्रीराममंदिरनिर्माणसमर्पणनिधिअभियानडाड़ीभाग-दोकेसमर्पणसहयोगराशिसंग्रहकार्यगुरुवारकोगिद्दीसेशुरूकिया।अभियानकीशुरुआतगिद्दीथानाशिवमंदिरमेंपूजा-अर्चनाकरकियागया।इसकेपश्चातअभियानप्रमुखपुरुषोत्तमपांडेयकीमातानारायणीदेवीवगणेशसावनेकार्यक्रमस्थलपहुंचकर1100-1100कीसमर्पणसहयोगराशिप्रदानकिया।जहांनारायणीदेवीकोगिद्दीखंडकार्यवाहबरुणकुमारऔरगणेशसावकोअभियानप्रमुखपुरुषोत्तमपाण्डेयनेरसीददिया।मौकेपरअभियानप्रमुखपुरुषोत्तमपाण्डेयनेकहाकीमुख्यउद्देश्यराममंदिरकेलिएराशिएकत्रितकरनानहींहैक्योंकिराममंदिरनिर्माणकीराशिकीकोईकमीनहींहोगी।लेकिनसंघकाउद्देश्यहैकीमर्यादापुरुषोत्तमरामभारतवर्षकीआत्माहैवोसिर्फसनातनआस्थाकेप्रतीकनहीहैबल्किहरभारतवासीकेआदर्शपुरूषहैं।इसलिएराममंदिरनिर्माणमेंहरभारतवाशीअपनासहयोगकरेंताकिइसपुण्यकार्यमेउनकाभीएकईंटकासहयोगहो।उन्होंनेकहाकीयहअभियानमात्र45दिनोंतकचलेगा।इसेहररामभक्तगाजेबाजेकेसाथशामिलहोहरगरीबअमीरसेसमर्थनऔरसमर्पणनिधिकासहयोगराशिलेनेकाकार्यकरेंगे।मौकेपरमुख्यरूपसेसंघकेगिद्दीखंडकार्यवाहवरुणकुमार,समाजसेवीसंतसिन्हा,हीरालालगंझू,अखिलेशसिंह,अधिवक्ताबसंतसिन्हा,धर्मेंद्रसिंह,मुरलीधरमिश्रा,अरबिदमिश्रा,शंकरकुमार,नूतनमिश्रा,महिलानेत्रीनमिताकुमारी,श्यामसुंदरपाण्डेय,राजेशसिंह,दीपकझा,राजबल्लभसिंह,दीपकसिंह,नागेंद्रसिंह,उमेशबेदिया,कुणालसिंह,लक्ष्मणरामआदिउपस्थितथे।