चैत्रशुक्लप्रतिपदापरमंगलवारकोजिलेकेमाताकेमंदिरोंऔरघर-घरमेंघटस्थापनाहुई।इसकेसाथहीभारतीयनवसंवत्सरकीभीशुरुआतहोगई।कोरोनाकेबंदिशोंकेचलतेइसबारकार्यक्रमोंकास्वरूपसीमितरखागया।शहरकेप्रमुखमंदिरोंमेंधार्मिकअनुष्ठानकेसाथशुभमुहूर्तमेंपूजा-अर्चनाहुई।कोरोनाकेखौफकाप्रभावसभीजगहदेखनेकोमिला।

दिनचढ़नेकेसाथहीलोगमंदिरोंदर्शनकेलिएपहुंचनेलगे।मंदिरमेंमातारानीकेदर्शनकेलिएभक्तोंकीकतारेंनजरनहींआईं।कोरोनागाइडलाइनकेचलतेकमसंख्यामेंलोगमाताकेदरपरपहुंचे।शहरकेज्योतिमातामंदिर,शीतलामातामंदिर,जगतमातामंदिर,कुन्हाड़ीमातामंदिरसहितप्रमुखमंदिरोंमेंजाकरभक्तोंनेमाताआशीर्वादलिया।मंदिरसमितिकीओरसेसैनिटाइजेशनवसामाजिकदूरीकापालनकरायागया।

जिलेमेंअगले9दिनोंतकविभिन्नमंदिरोंमेंकार्यक्रमहोगारोजमाताकेअलगअलगस्वरूपकीपूजाहोगी।मातारानीकाश्रृंगारकियाजाएगा।अष्टमीऔरनवमीपरकन्याओंकापूजनहोगा।सुंदरकांडपाठ,हनुमानचालीसा,घरों-मंदिरोंमेंहवनपूजनहोंगे।

कलेक्टरनेधार्मिकआयोजनोंकेमद्देनजरजिलेभरमेंधारा144लागूकीहै।इसकेतहतजिलेमेंधार्मिकउत्सव,मेले,त्योहार,जुलूस,रैलीसार्वजनिकस्थानोंपरधार्मिककार्यक्रमोंपरप्रतिबंधरहेगा।केवलपूजा,अर्चना,अरदास,इबादतएवंप्रार्थनास्थलपरउपलब्धक्षमताकी50प्रतिशतयाअधिकतम50व्यक्तियोंकीसीमातकलोगइकट्‌ठेहोसकेंगे।