राज्यब्यूरो,नईदिल्ली।राममंदिरआंदोलनकेनायकरहेउत्तरप्रदेशकेपूर्वमुख्यमंत्रीकल्याणसिंहअबहमारेबीचनहींहैं,मगरलोगोंकेबीचउनकीस्मृतिहमेशाअमिटरहेगी।उत्तरप्रदेशकेमुख्यमंत्रीरहतेहुएकल्याणसिंहदेशकीराजनीतिमेंएककुशलप्रशासककेरूपमेंउभरेथे।अपनेप्रदेशकोअपराधमुक्तबनानेकेउनकेप्रयासोंसेउनकीछविदेशभरमेंसख्तप्रशासककीहोगईथी।इसकेचलतेभाजपाइयोंमेंभीअटलबिहारीवाजपेयीऔरलालकृष्णआडवानीजैसेशीर्षनेताओंकेबादकल्याणसिंहकीस्वीकारोक्तिबनरहीथी।

वर्ष1992कीशुरुआतमेंकल्याणसिंहसरकारकाउत्तरप्रदेशकेआपराधिकगिरोहोंपरशिकंजाकाफीकड़ाहोताजारहाथा।आपराधिकगिरोहकेसरगनाआएदिनपुलिसकेसाथमुठभेड़मेंमारेजारहेथे।इनगिरोहोंकोकहींसेराजनीतिकसंरक्षणनहींमिलरहाथा।गिरोहोंमेंशामिलअपराधीअपनेबचावकेलिएदूसरेप्रदेशोंकीतरफरुखकररहेथे,लेकिनअपराधियोंकोपकड़नेवालीकल्याणसिंहपुलिसदिल्ली-हरियाणामेंभीनजररखतीथी।इसकेचलतेउत्तरप्रदेशसेलगतीहरियाणाकीसीमाकेजिलोंकीपुलिसभीकाफीचौकन्नीरहतीथी।

फरीदाबादमेंतबतिगांवकेडाकूजयभगवानकाआतंकथा।जयभगवानकेसंबंधउत्तरप्रदेशकेकईबड़ेआपराधिकगिरोहोंसेथे।1992मेंहीजयभगवाननेफरीदाबादकेएकट्रांसपोर्टरसेरंगदारीमांगीथी।अपराधियोंकेखिलाफकल्याणसिंहसरकारकीकड़ीकार्रवाईसेउत्साहितइसट्रांसपोर्टरनेउसेकुछभीदेनेसेइन्कारकरदिया।डाकूजयभगवानउत्तरप्रदेशमेंकोईवारदातनहींकरताथा,इसलिएवहपुलिसकीनजरोंसेबचकरउत्तरप्रदेशमेंजाकररहनेलगा।वहींसेफरीदाबादकेउद्यमियोंसेरंगदारीवसूलनेलगा।

ट्रांसपोर्टरसेरंगदारीमांगनेकामामलाएकगुप्तपत्रसेतत्कालीनसीएमकल्याणसिंहकोमिला।इसकेकुछदिनबादफरीदाबादयहखबरआईथीकिडाकूजयभगवानउत्तरप्रदेशमेंमारागया।तबसेफरीदाबादकेउद्यमीकल्याणसिंहकोहमेशायादरखतेहैं।कल्याणसिंह1994मेंमौजूदाकेंद्रीयराज्यमंत्रीकृष्णपालगुर्जरकेबुलावेपरफरीदाबादआएतोउद्यमियोंनेतबराज्यमेंकांग्रेसकीसरकारहोतेहुएभीउनकास्वागतकियाथा।