मुंबई,एएनआइ।शिवसेनाऔरभाजपाकेबीचमहाराष्‍ट्रमेंलोकसभाचुनावोंकेलिएसीटोंकेबंटवारेकोलेकरअभीतककोईसमझौतानहींहोपायाहै।महाराष्‍ट्रमेंशिवसेनाअपनीमांगपरपीछेहटनेकोतैयारहीनहींहै।भाजपाकेसाथगठबंधनकोलेकरशिवसेनानेअबनईशर्तरखीहै।शिवसेनानेतासंजयराउतकाकहनाहैकिअगरदेशमेंभारतीयजनतापार्टीकाप्रधानमंत्रीबनताहैतोमहाराष्ट्रकामुख्यमंत्रीशिवसेनाकाहोनाचाहिए।

शिवसेनासांसदसंजयराउतनेकहाकिअगरफिरनरेंद्रमोदीजीकोप्रधानमंत्रीकेरूपमेंदेखनाचाहतेहैंतोमहाराष्ट्रमेंमुख्‍यमंत्रीकापदशिवसेनाकोदेनाहोगा।उन्‍होंनेकहा,'अगर2019मेंएनडीएकीसरकारबनेगी,तोइसमेंशिवसेना,अकालीदलऔरअन्‍यबड़ेसहयोगीदलोंकीमहत्‍वपूर्णभूमिकारहेगी।एनडीएकेसहयोगीलगभगसभीदलअपने-अपनेराज्‍योंमेंबेहदताकतवरहैं।इसलिएअगरआपउनदलोंकेसाथकेंद्रमेंगठबंधनकरनाचाहतेहैंऔरकेंद्रकीसत्‍ताहासिलकरनाचाहतेहैं,तोराज्‍योंमेंउन्‍हींसहयोगीदलोंकेहीमुख्‍यमंत्रीहोनेचाहिए।'

संजयराउतनेकहाकिकुछपानेकेलिएकुछखोनापड़ताहै।आजकीतारीखमेंशिवसेनाअकेलेचुनावलड़नेकेलिएतैयारहै।शिवसेनाआजभीमहाराष्ट्रमेंबड़ाभाईहै।सूत्रोंकेमुताबिकपश्चिममहाराष्ट्रमेंशिवसेनाकीमजबूतस्थितिनहोनेकेचलतेयहांकेनेताओंनेउद्धवठाकरेसेभाजपाकेसाथगठबंधनकरनेकीमांगकीथी।हालांकि,शिवसेनाकारवैयाभाजपाकोलेकरहमेशाहमलावररहाहै।आएदिनशिवसेनाकामुखपत्रसामनामेंपीएममोदी,सीएमफडणवीस,यूपीकेमुख्यमंत्रीयोगीऔरकेंद्रसरकारकोनिशानाबनायाजारहाहै,जिससेबीजेपीकेहलकोंमेंनाराजगीहै।

गौरतलबहैकिशिवसेना-भाजपा1995मेंपहलीबारहिंदुत्वकेमुद्देपरएकसाथआईऔरसत्तातकपहुंची।तबभाजपाकेदिवंगतनेताप्रमोदमहाजनऔरगोपीनाथमुंडेकीजोड़ीनेशिवसेनाकेसाथमिलकरभाजपाकोसत्तातकपहुंचायाथा।