कानपुर,जागरणसंवाददाता।भारतीयराष्ट्रीयराजमार्गप्राधिकरण(एनएचएआइ)मेंपरियोजनानिदेशकरहेसत्येंद्रदुबेहत्याकांडसेभीजलकलमहाप्रबंधक(जीएम)नीरजगौड़केआवासपरसीबीआइकेछापेकोजोड़ाजारहाहै।गुरुवारशामकोकेंद्रीयजांचब्यूरो(सीबीआइ)नेजलकलमहाप्रबंधककेसरकारीआवासपरछापेमारीकीथी।इसदौरानउनसेकरीबपांचघंटेपूछताछहुईथी।टीमकईदस्तावेजसाथलेगईथी।इसकेबादसेजलकलमहाप्रबंधकदोदिनकीछुट्टीपरहैं।वहवर्ष2008से2013मेंप्रतिनियुक्तिपरवाराणसीमेंगयाडिवीजनमेंएनएचएआइमेंक्षेत्रीयप्रबंधककेपदपरकार्यरतथे।इसदौरानटोलकंपनीको30करोड़रुपयेकाफायदापहुंचनेकाभीमामलासामनेआयाहै,जिसमेंमुकदमादर्जहुआथा।

सूत्रोंकेमुताबिक,आइआइटीकानपुरसेइंजीनियरगकीपढ़ाईकरनेवालेबिहारकेसीवानजिलेकेसत्येंद्रकुमारदुबेएनएचएआइमेंपरियोजनाप्रबंधककेपदपरतैनातथे।इसदौरानस्वर्णिमचतुर्भुजपरियोजनामेंहुएभ्रष्टाचारकाउन्होंनेराजफाशकियाथा।27नवंबर,2003कोगयारेलवेस्टेशनकेपासउनकीहत्याकरदीगईथी।इसकीजांचसीबीआइकररहीहै।जांचकोलेकरआइआइटीकेएकपूर्वछात्रनेजनसूचनाअधिकारकेतहतकार्रवाईकेबारेमेंपूछातोखलबलीमचीहै।सूत्रोंकेअनुसारउसकेबादसेहीफिरफाइलेंपलटीगईंऔरजांचतेजीसेआगेबढ़ीहै।महाप्रबंधकछहसालतकगयाडिवीजनमेंकार्यरतरहे।मानाजारहाहैकिइसकोलेकरहीउनसेपूछताछकीगईहै।