जागरणसंवाददाता,मीरजापुर:जिलेकीचिकित्सीयसुविधाइतनीखराबहोगईकिकोरोनाकालमेंआपकाइलाजहोगाकिनहीं,इसकीकोईगारंटीनहींहै।वायरससेआपपीड़ितहोगएऔरजांचकरालियातोउसकीरिपोर्टकेलिएआपकोचारदिनोंतकइंतजारकरनापड़ेगा।इसकेबादहीरिपोर्टमिलेगी।इससेपहलेकुछनहींहोसकता।तबतकआपकोसंक्रमणपरकंट्रोलपानेकेलिएकाढ़ायाबुखारकीदवाखानीहोगी।डाक्टरइससेज्यादाआपकोकोईदवालिखेंगेनहीं।जबआपकीरिपोर्टआजाएगीऔरउसमेंआपसंक्रमितपाएजातेहैंतोचिकित्सकउसहिसाबसेदवाखानेकेलिएलिखेंगे।इसीबीचआपकोकुछहोगयातोइसकीजिम्मेदारीकोईनहींलेगा।भगवानभरोसेआपरहेंगे।

जिलेमेंकोरोनासंक्रमितोंकोचिन्हितकरनेकेसैंपललेनेवालीतीनटीमोंके18सदस्यइससमयसंक्रमितहोगएहै।इसलिएनगरमेंकोरोनाकेसैंपललेनेकेलिएलगाएगएकैंपबंदकरदिएगएहै।केवलमंडलीयचिकित्सालयमेंकोरोनाकेसंदिग्धोंकेसैंपललिएजारहेहैं।मात्रएकस्थानपरसैंपललेनेकीप्रक्रियाकिएजानेसेलोगोंकोलंबीलाइनलगानीपड़रहीहै।तबजाकरकहीसैंपललिएजारहेहै।सैंपलदेभीदिएतोआपकोतत्कालरिपोर्टनहींमिलेगी।इसकेलिएतीनदिनोंतकआपकोइंतजारकरनापड़ेगातबजाकररिपोर्टमिलेगी।रिपोर्टदेरीसेमिलनेकेबारेमेंकहाजारहाहैंकिलैबकेलगभग15कर्मचारीकोरोनापॉजिटिवहोगएहैं।मात्रपांचकर्मचारीबचेहैं।जोजांचकररहेहैं।इससेरिपोर्टआनेमेंदेरहोरहीहै।निजीलैबोंकेकर्मचारियोंकोजांचकरनेकेलिएबुलायाजारहाहैलेकिनवेआनहींरहेहैं।इससेसमस्याखड़ीहोरहीहै।रिपोर्टदेरसेआनेकेकारणमरीजोंकीहालतभीखराबहोरहीहै।एकदिनमें1800संदिग्धोंकेसैंपलकीहोरहीजांच

मंडलीयचिकित्सालयमेंकोरोनाकेसंदिग्धोंकेसैंपलकीजांचकेलिएइससमयछहकर्मचारीकामकररहेहैं।जोकुल1800सैंपलकीजांचकररहेहैं।इसमें800सैंपलकीजांचआरटीपीसीआरतथा1000सैंपलकीजांचएंटीजेनमशीनसेकियाजारहाहै।जबकिइससेपहलेदोसेतीनहजारसैंपलकीजांचप्रतिदिनकीजातीथी,लेकिनकर्मचारियोंकीकमीकेचलतेजांचकीसंख्यामेंकमीआईहै।वर्जन

लैबकेकर्मचारियोंकेपॉजिटिवआनेकेबादजांचप्रभावितहुईहै।यहीकारणहैकिरिपोर्टतीनसेचारदिनमेआरहीहै।जल्दहीस्थितिसहीहोजाएगी।

-डा.पीडीगुप्तामुख्यचिकित्साधिकारी