संवादसूत्र,गोवर्धन:अखिलभारतीयतीर्थपुरोहितमहासभाकेराष्ट्रीयअध्यक्षमहेशपाठकनेकहाहैकिरामकृष्णकेदेशमेंमंदिरोंकासम्मानहै।अगरसरकारनेमंदिरोंपरध्वस्तीकरणकीकार्रवाईकोनहींरोकातोमहासभाविरोधकरेगी।श्रीकांतवशिष्ठनेकहाकिहमनेबाबरकोझेलाहै,मोदी-योगीकोभीदेखेंगे।जानदेदेंगे,लेकिनमंदिरनहींटूटनेदेंगे।

अखिलभारतीयतीर्थपुरोहितमहासभाकेराष्ट्रीयअध्यक्षमहेशपाठककेनेतृत्वमेंसोमवारकोतमामविप्रहरगोकुलमंदिरपरएकत्रितहुए।सहायकप्रबंधकसंतोषउपाध्यायऔरसेवायतजैकीचाचानेदुपट्टापहनाकरसभीविप्रजनोंकास्वागतकिया।यहांसेजुलूसकीशक्लमेंबैंडबाजोंकेसाथमुकुटमुखार¨वदपहुंचे।

यहांसेवायतमुरारीलालशर्मानेमंत्रोच्चारणकेबीचपूजासंपन्नकराई।यहांसेयहकाफिलादानघाटीमंदिरकेआरतीस्थलपरधरनापरबैठेसेवायतोंकोसमर्थनदेनेपहुंचा।यहांआयोजितसभामेंवक्ताओंनेओजस्वीभाषणदेकरमंदिरोंपरध्वस्तीकरणकीकार्रवाईकेविरोधमेंहुंकारभरीऔरबड़ेआंदोलनकीचेतावनीदी।देवोपंडितनेमंदिरकेध्वस्तीकरणपरजवाबीकार्रवाईकीचेतावनीदी।

मुकुटमुखार¨वदमंदिरकेप्रबंधकविनोदकुमारशर्मा,सहायकप्रबंधकसंतोषउपाध्याय,वंशी,सेवायतमुरारीलालशर्मा,त्रिलोकीशर्मा,मोनू,रोहित,श्यामबाबूबौहरे,देवोकौशिक,श्रीनाथकौशिक,दानघाटीसेवायतरामेश्वरपुरोहित,श्रीकांतवशिष्ठ,नंदकुमार,भगवानदासलंबरदारवलक्ष्मीनारायणकौशिकआदितमाममौजूदथे।