करुणशर्मा,बिलावर

9754करोड़कीलागतवालेउज्जमल्टीपर्पजडैमप्रोजेक्टसेबिलावरकेधार्मिकधरोहरपंजमुखीशिवलिंगमंदिरपरखतरामंडरानेलगाहै।इसप्रोजेक्टपरकामशुरूकरनेसेपहलेबिलावरकेपांचतीर्थोकेसंगमकेबीचस्थितइसमंदिरकोपहलेकहींऔरसुरक्षितस्थानांतरितकरनेकीमांगमुखरहोनेलगीहै।दरअसलपंचमुखीशिवलिंगविश्वमेंमात्रदोहीहैं।एकभगवानपशुपतिनाथनेपालमेंविराजमानहैंऔरदूसराबिलावरकेपंजतीर्थीमें।

डैमकानिर्माणकार्यशुरूहोनेसेयहमंदिरजलमग्नहोजाएगा।यहमंदिरलाखोंलोगोंकीआस्थाकाकेंद्रहै।इसलिएइसधरोहरकोसुरक्षितकरनेकीमांगलोगकरनेलगेहैं।पाचदरियाओंउज्ज,भीनी,तल्लेन,सूत्रखड्ड,पंजतीर्थीकेसंगमकेबीचअवस्थितपंचमुखीशिवलिंगकानजारादेखतेबनताहै।सरकारने9754करोड़केउज्जडैमकेनिर्माणकेप्रोजेक्टकोहरीझडीदेदीहै।लेकिनइससेपहलेपंजतीर्थीमंदिरकोसंरक्षितकरनेपरविचारनहींकियागया।पिछलेमहीनेराज्यपॉल्यूशनकंट्रोलबोर्डद्वाराबिलावरकेकिशनपुरडूंगाडागावमेंजनतादरबारकेदौरानलोगोंनेडीसीओमप्रकाशभगतऔरपॉल्यूशनकंट्रोलबोर्डकेआलाअधिकारियोंकेसमक्षयहमुद्दाउठायाथा।दूरूंगकीसरपंचभोलीदेवी,विलेजसोशलवेलफेयरएंडडेवलपमेंटकमेटीकिशनपुरडूगडाकेअध्यक्षएसपीशर्मानेकहाथाकिपंजतीर्थीकामंदिरलाखोंलोगोंकीयहशिवलिंगदुर्लभहै।इसीलिएसरकारकीजिम्मेदारीहैकिउच्चडैमनिर्माणसेपहलेमंदिरकोसंरक्षितकरे।

एडीसीबिलावरसंदेशकुमारशर्मानेकहाकिजनसुनवाईकेदौरानयहमुद्दाउठाथा।जिलाआयुक्तनेप्राथमिकताकेआधारपरउच्चअधिकारियोंसेइसमसलेकोहलकरवानेकाआश्वासनलोगोंकोदियाथा।