देहरादून,जेएनएन।Unlock-1मेंआठजूनयानीसोमवारसेधार्मिकस्थलोंकोश्रद्धालुओंकेलिएखोलदियाजाएगा।इसकोलेकरउत्तराखंडमेंभीधार्मिकस्थलतैयारियोंमेंजुटेहुएहैं।मंदिर,मस्जिद,गुरुद्वारों,चर्चपरिसरकोसैनिटाइजकियाजारहाहै।मंदिरोंमेंखासबातयहहैकिशरीरिकदूरीबनाकरश्रद्धालुओंकोप्रवेशदियाजाएगा,लेकिनप्रतिमाकोछूनेऔरप्रसाद,दानदेनेकीमनाहीरहेगी।वहीं,राज्यसरकारआठजूनकेबादचारधामयात्राकोसीमित,नियंत्रितऔरसुरक्षितरूपसेशुरूकरनेपरमंथनकररहीहैैै।सीएमत्रिवेंद्रसिंहरावतकाकहनाहैकिपरिस्थितियोंकेअनुरूपआठजूनकेबादराज्यमेंचारधामयात्राकोलेकरफैसलालियाजाएगा।

कोरोनावायरससंक्रमणकोरोकनेकेलिएकिएगएलॉकडाउनकेदौरानधार्मिकस्थलोंकोभीबंदकरदियागयाथा।परअबअनलॉक-वनमेंसोमवारसेइन्हेंखोलदियाजाएगा।केंद्रीयगाइडलाइनकेतहतहीश्रद्धालुओंकोपूजा-अर्चनाकीअनुमतिदीजाएगी।उत्तराखंडमेंदेहरादून,धर्मनगरीहरिद्वार,ऋषिकेशसमेतअन्यशहरोंमेंस्थितमंदिरोंकोखोलनेकीतैयारियांतेजहोगईहै।वहीं,चारधामोंकेकपाटखोलेजाचुकेहैं,लेकिनफिलहालश्रद्धालुओंकोयात्राकीअनुमतिनहींदीगईहै।आठजूनकेबादहीचारधामयात्राकोलेकरभीफैसलालियाजासकताहै।

डाटकालीमंदिरकेमहंतरमनगोस्वामीकाकहनाहैकिकोरोनासंक्रमणकेडरसेशुरुआतीदौरमेंमंदिरमेंज्यादाभीड़नहीरहेगी।कमहीश्रद्धालुआएंगे।हालांकि,हमनेइसकेलिएतैयारीशुरूकरदीहै।पूरेमंदिरमेंसफाईकीगईहै।मुख्यद्वारपरसैनिटाइजरलगानेकेबादऔरमास्कपहननेवालेश्रद्धालुओंकोप्रवेशदियाजाएगा,जोसिर्फमांकेदर्शनकरसकेंगे।

सातजूनकोहोगीबैठक

वहीं,पृथ्वीनाथमहादेवमंदिरकेसेवादारसंजयगर्गनेबतायाकिमंदिरमेंव्यवस्थाबनानेकेलिएमंदिरकेमहाराजऔरसेवादारोंकीसातजूनकोबैठकहोगी,इसमेंकईबिंदुओंपरचर्चाहोनीहै।श्रद्धालुभीप्रभुकेदर्शनकरसकेऔरशारीरिकदूरीभीबनीरहेइसकाविशेषध्यानरखाजाएगा।इसकेसाथहीराजपुररोडस्थितमंदिरकेपंडितविनोदकुमारनेबतायाकिमास्कनहीं,तोप्रवेशनहींकेआधारपरहीश्रद्धालुओंकोमंदिरकेअंदरआनेदियाजाएगा।उनकाकहनाहैकिमंदिरकेबाहरनोटिसचस्पाकियाजाएगा,जिसमें,प्रसादनचढ़ाने,प्रतिमाकोनछूनेकीअपीलकीजाएगी।फिलहालकुछदिनोंतकटीका(तिलक)लगानेकीभीमनाहीरहेगी।

शारीरिकदूरीबनाकरहोंगेदर्शन

वैष्णोमातागुफायोगमंदिरटपकेश्वरकेसंस्थापकविपिनजोशीनेबतायाकिसरकारकीओरसेजारीगाइडलाइनकापालनकियाजाएगा।भक्तदर्शनकरनेआएंलेकिन,भीड़नकरें।प्रतिमाकेसम्मुखफल,नारियल,चुनरीचढ़ानेकीपरंपराहै।परफिलहालपरिस्थितियोंकोदेखतेहुएचढ़ावानहींचढ़ायाजाएगा।श्रद्धालुशारीरिकदूरीबनाकरहीदर्शनकरसकेंगे।

श्रद्धालुओंकेखड़ेहोनेकेलिएबनाएगोले

हनुमानमंदिरआराघरकेपंडितविष्णुप्रसादभट्टकाकहनाहैकिशारीरिकदूरीबनीरहेइसलिएश्रद्धालुओंकेखड़ेहोनेकेलिएगोलेबनाएजारहेहैं।मुख्यगेटपरश्रद्धालुसैनिटाइजरसेहाथसाफकरनेकेबादहीप्रभुकेदर्शनकरेंगेऔरअगलेगेटसेवापसलौटेंगे।इसदौरानमास्कअनिवार्यरहेगा,इसकेबगैरप्रवेशनहींकरसकते।

सरकारकेआदेशकेअनुसारबनाईजाएगीव्यवस्था

वहीं,शहरकाजीमौलानामोहम्मदअहमदकासमीकाकहनाहैकिधर्मस्थलखुलरहेहैं,लेकिनशारीरिकदूरीबनानेकेलिएलोगोंकाजागरूकहोनाजरूरीहै।मस्जिदोंमेंनमाजअदाकरनेकेलिएसरकारकेआदेशकाइंतजारकररहेहैं,उसीअनुसारव्यवस्थाबनाईजाएगी।

सिखकॉर्डिनेशनकमेटीकेअध्यक्षगुरदीपसिंहसहोतानेकहा,धार्मिकस्थलखुलनेकेसाथगुरुद्वारोंमेंआनेवालीसंगतकोशारीरिकदूरीकापालनऔरएकदूजेकोइसवैश्विकमहामारीकेप्रतिजागरूककरनाजरूरीहै।गुरुद्वारोंमेंफिलहालज्यादालोगशामिलहोनेवालेबड़ेआयोजननहींहोसकतेहैं।बाकीकुछलोगोंकीमौजूदगीमेंसुबहशब्दकीर्तनकिएजासकेंगे।

चारधामयात्रापरभीजल्दहोगाफैसला

राज्यसरकारबदरीनाथ,केदारनाथ,गंगोत्रीऔरयमुनोत्रीयात्राशुरूकरानेकोलेकरमंथनमेंजुटीहै।अबजबआठजूनकेबादधार्मिकस्थलोंकोखोलेजानेकीछूटदीगईहै,तोप्रदेशसरकारभीइसकेलिएतैयारहै।सरकारकेप्रवक्ताऔरकैबिनेटमंत्रीमदनकौशिकनेकहाकिराज्यमेंआठजूनकेबादसीमितसंख्यामेंचारधामयात्राशुरूकीजासकतीहै।इसकेस्वरूपकोलेकरमंथनअंतिमचरणमेंहै।कोशिशरहेगीकिपहलेराज्यऔरकुछसमयबादबाहरीराज्योंकेश्रद्धालुओंकोसीमितसंख्यामेंयात्राकीइजाजतदीजाए।

महामारीकेइसदौरमेंचारधामयात्राशुरूकरनेकाविरोध

एकओरजहांसरकारनेचारधामयात्राशुरूकरनेकोलेकरमंथनशुरूकरदियाहै,वहींदूसरीओरचारधाममेंतीर्थपुरोहित,मंदिरसमितिऔरहोटलसंचालकइसकाविरोधकररहेहैं।उनकाकहनाहैकिमहामारीकेइसदौरमेंसरकारइसतरहनिर्णयनले,जोधामोंकेसाथपहाड़कोभीखतरेमेंडालेगा।गंगोत्रीमंदिरसमितिकेअध्यक्षसुरेशसेमवालनेकहाकिबिनातैयारियोंकेसरकारकायहनिर्णयबिल्कुलगलतहै।यहनिर्णयतोठीकवैसाहैजैसेसुरक्षितस्थानोंपरसरकारकोरोनाभेजरहीहै।सरकारकेनिर्णयकावेपूरीतरहसेविरोधकररहेहैं।उन्होंनेकहाकिसरकारइसअंतरालमेंधामऔरमुख्यपड़ावपरस्वास्थ्यव्यवस्थाएंसुचारुकरें।

गंगोत्रीधामकेतीर्थपुरोहितएवंमंदिरसमितिकेसहसचिवराजेशसेमवालनेकहाकिअभीकोरोनामहामारीअपनेचरमपरहै।इसलिएसरकारकोसितंबरकेबादहीयात्राकेसंचालनकेबारेमेंसोचनाचाहिए।वहीं,यमुनोत्रीमंदिरसमितिसचिवकृतेश्वरउनियालनेकहाकिकोरोनासंक्रमणसेअभीपहाड़केगांवऔरधामसुरक्षितहैं।यात्राकासंचालनहोगातोकोरोनासीधेगांवतकपहुंचजाएगा।फिरकिसीकोरोनापॉजिटिवकीट्रेवलहिस्ट्रीखंगालनीमुश्किलहोजाएगी।यात्राकरनेवालाव्यक्तिगाड़ी,होटल,रेस्टोरेंट,सार्वजनिकशौचालयकाभीउपयोगकरेगा।धामोंमेंपहुंचनेकेलिएघोड़ा,डंडी-कंडीकाभीउपयोगकरेगा।मंदिरोंमेंतीर्थपुरोहितभीसंपर्कमेंआएंगे।

यहभीपढ़ें:ChardhamYatra2020:Unlock-1मेंसीमित,नियंत्रितऔरसुरक्षितस्वरूपमेंहोगीयात्रा

वेकहतेहैंकिधामोंऔरयात्राकेमुख्यपड़ावोंपरस्वास्थ्यसुविधाओंकीस्थितिकिसीसेछुपीनहींहै।इसलिएवेसरकारकेइसनिर्णयकापूरीतरहसेविरोधकररहेहैं।कृतेश्वरउनियालनेकहाकिसरकारकोसब्रकरनाचाहिए।जबतकइसमहामारीकीकोईवैक्सीननहींबनजातीहैतबतकयात्राकोलेकरकोईनिर्णयनलें।होटलव्यवसायीमेजरआरएसजमनालकहतेहैंकिसरकारनेकेवलघोषणाकीहै,लेकिनधरातलपरकुछभीतैयारीनहींहै।वाहनोंकेसंचालन,होटलोंकेसंचालन,स्वास्थ्यसुरक्षाकेइंतजामकुछभीनहींकिएगएहैं।अच्छाहोताऐसेनिर्णयलेनेसेपहलेसरकारफीडबैकऔरसलाहलेती।

यहभीपढ़ें:केदारपुरीकोसंवारनेमेंजुटेहैं150योद्धा,कड़ाकेकीठंडभीनहींडिगापाईहौसला