क्याहैमकसद

निदेशकनेबताया,‘‘इनअभयारण्योंकेचारोंतरफचारदीवारीखड़ीकीजाएगी,भीतरहीपानीऔरचारेकीव्यवस्थाकीजाएगी.चारेकेलिएचारस्थलबनाएजाएंगे.विभागकाउद्देश्यज्यादासेज्यादाछुट्टापशुओंकोसंरक्षणदेनाहै."इंद्रमणिनेबतायाकिगांवअभयारण्योंकेसाथ-साथवर्तमानगौशालाओंकीक्षमताबढ़ाईजाएगीऔरसाथहीनईगौशालाएंभीबनाईजाएंगी.

BareillyNews:खुदकोदिल्लीपुलिसकादारोगाबतालोगोंसेपैसेऐंठनेवालेदोलोगगिरफ्तार,ऐसेलगातेथेचूना

बड़ीसमस्याहैंछुट्टापशु

गौरतलबहैकिउत्तरप्रदेशकेखासकरग्रामीणइलाकोंमेंछुट्टापशुओंकीसमस्याबहुतविकटहैऔरयहमामलाहालमेंहुएविधानसभाचुनावमेंभीबड़ामुद्दाबनाथा.प्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीऔरमुख्यमंत्रीयोगीआदित्यनाथनेइसमसलेकाप्राथमिकताकेआधारपरसमाधानकरनेकावादाभीकियाथा.

कितनेहैंऐसेपशु

आधिकारिकसूत्रोंकेमुताबिक,2019मेंछुट्टापशुओंकेएकसर्वेक्षणकेमुताबिकप्रदेशमेंऐसेजानवरोंकीसंख्या11लाख84हजारहै.राज्यसरकारकादावाहैकिपिछलेपांचवर्षोंकेदौरानइनमेंसेनौलाख30हजारकोआसरादियागयाहैऔरबाकियोंकोभीआश्रयदेनेकीदिशामेंकामकियाजारहाहै.

गोबरखरीदनेकीयोजना

इंद्रमणिनेबताया,‘‘प्रस्तावितकार्ययोजनाकेतहतराज्यसरकारछुट्टापशुओंकागोबरखरीदनेकीयोजनाभीबनारहीहै.कुछबायोगैसइकाइयांपहलेसेहीकामकररहीहैं.इसकेअलावावाराणसीमेंभीएकगोबरगैसप्लांटलगायागयाहै.’’

जनवरी2020मेंमुख्यमंत्रीयोगीआदित्यनाथनेमिर्जापुरजिलेमेंएकगौअभयारण्यकीआधारशिलारखीथी.इससेपहलेजनवरी2019मेंउत्तरप्रदेशमंत्रिमंडलनेनगरीयतथाग्रामीणशासीनिकायोंकेअंतर्गतअस्थाईगोवंशआश्रयस्थलोंकीस्थापनाऔरउनकेसंचालनकीयोजनाकोमंजूरीदीथी.

प्रदेशकेपशुधनमंत्रीधर्मपालसिंहनेहालहीमेंकहाथाकिखालीपड़ीसरकारीजमीनोंकाइस्तेमालछुट्टापशुओंकेलिएचारेकोउगानेमेंकियाजाएगा.सभीजिलाधिकारियोंसेकहागयाहैकिवेअपने-अपनेजिलोंमेंऐसीजमीनोंकोचयनितकरआवश्यकतापड़नेपरउन्हेंखालीकराएं.

PrayagrajNews:मुख्तारअंसारीसेजुड़ेदोमामलोंमेंहाईकोर्टकेजजनेसुनवाईसेकियाइनकार