धर्मबीरसिंहमल्हार,तरनतारन:पाचजनवरी1973कोमुख्यमंत्रीज्ञानीजैलसिंहनेतरनतारनशहरकोसिविलअस्पतालकीसौगातदीथी।समय-समयपरइसअस्पतालकाविकासहोतारहा,लेकिनजरूरतकेमुताबिकसेहतसुविधाएंदेनेमेंयहअस्पतालपूरीतरहसेकामयाबनहींहोपाया।जिलाबने13वर्षगुजरचुकेहैं,लेकिनअभीतकजिलास्तरीयअस्पतालसिटीस्कैन,आइसीयूऔरवेंटीलेटरकेबिनाहीचलरहाहै।

गतवर्षइसअस्पतालमेंएकमाहकेदौरान21हजार431मरीजोंकीरजिस्ट्रेशनहुईथी।जबकिविभिन्नबीमारियोंकेइलाजलिएयहा916लोगोंकोभर्तीकियागया।एकमाहकेदौरानयहापर724मरीजोंकेऑपरेशनकिएगए,जबकि186डिलीवरीकेकेसहुए।इसअस्पतालमेंएकमाहकेदौरान1159एक्सरे,277ईसीजी,680अल्ट्रासाउंड,30812लेबटेस्टकिएगए।इनमरीजोंसेयूजरचार्जसकेतौरपर14लाख23हजार130रुपयेवसूलकिएगए।अबबातकरेंअस्पतालमेंकमस्टाफकीतोमरीजोंकीआमदकोमुख्यरखतेहुएसारादिनयहापरभीड़लगीरहतीहै।मेडिकलअधिकारियोंकेयहापरचारपदखालीहै।बच्चोंकेरोगोंकेविशेषज्ञडॉक्टरकाएकपद,बेहोशीकेडॉक्टरकाएकपद,फार्मासिस्टकेपाचपद,ईएमओकेसातपदखालीचलेआरहेहै।ड्राइवरकायहापरएकपदलंबेसमयसेखालीहै।सुविधाएंनमिलनेसेलोगोंकोकईप्रकारकीपरेशानियोंकासामनाकरनापड़रहाहै।दिलप्रीतसिंह,पवनकुमार,हरमीतसिंह,कुलजीतसिंहऔरकिशोरीलालकहतेहैकिअस्पतालमेंखालीपड़ेपदोंकोसरकारकोशीघ्रभरनाचाहिए।

एकनजरअस्पतालकीअपग्रेडशनपर

-5जनवरी1973कोतत्कालीनमुख्यमंत्रीज्ञानीजैलसिंहनेसिविलअस्पताल,तरनतारनकाउद्घाटनकियाथा।

-26अक्टूबर1990कोराज्यपालकेसलाहकारपीकेकठपालियाद्वाराइमरजेंसीवार्डकानींवपत्थररखागया।

-14फरवरी1994कोसेहतमंत्रीहरचरणसिंहबराड़द्वाराइमरजेंसीवार्डकाउद्घाटनकियागया।

-9जुलाई2013कोआठकरोड़कीलागतसेतैयार50बेडवालीनईइमारतकाउद्घाटनसेहतमंत्रीमदनमोहनमित्तलद्वाराकियागया।

मंत्रीजीकाआश्वासनभीअधूरा

50बेडसेसिविलअस्पतालको100बेडमेंपरिवर्तितकरतेहुएनौजुलाई2013कोसेहतमंत्रीमदनमोहनमित्तलनेइसजिलास्तरीयअस्पतालकादर्जदियागयागयाथा।उन्होंनेअस्पतालमेंआईसीयूकेंद्र,वेंटीलेटरऔरसीटीस्कैनकीसुविधाजल्ददिलानेकाआश्वासनदियाथा,परंतुअभीतकयेसुविधानहींमिलपाई।

मरीजोंकोबेहतरसुविधाएंदिलानाजरूरी:विधायकडॉ.अग्निहोत्री

विधायकडॉ.धर्मबीरअग्निहोत्रीनेकहाकिजिलास्तरीयअस्पतालमेंसीटीस्कैन,वेंटीलेटर,आईसीयूकीकमीहै।सीमासेलगतेजिलेमेंमरीजोंकोबेहतरसेहतसेवाएंदिलानाजरूरीहै।हालहीमेंसरकारकीओरसेसाढ़ेसातकरोड़कीराशिखर्चकर50बेडवालाजच्चा-बच्चावार्डबनवायागया।येवार्डशीघ्रलोकार्पितकियाजाएगा।इसकेसाथहीसाढ़ेछहकरोड़कीलागतसेट्रोमावार्डकानिर्माणशुरूकरवायाजाएगाताकिआपातकालीनकेसमयमेंमरीजोंकोबेहतरसेहतसुविधाएंमिलसके।

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!