संवादसूत्र,गिद्दड़बाहा(श्रीमुक्तसरसाहिब):हलकागिद्दड़बाहाकेगांवकोटभाईकेएवरेस्टपब्लिकसीनियरसेकेंडरीस्कूलमेंपढ़रहेंआठवींक्लासकेविद्यार्थीलवप्रीतसिंहऔरयुवराजसिंहनेरास्तेमेंमिलामोबाइलमालिककोवापसकरकेईमानदारीकीमिसालकायमकी।इससंबंधमेंस्कूलकेएसडीमास्टरबलजिदरसिंहकोटभाईनेबतायाकिविद्यार्थीलवप्रीतसिंहऔरयुवराजसिंहस्कूलकीछुट्टीकेबादघरजारहेथेतोरास्तेमेंउनकोरिलायंसटावरकेपासएकमहंगीकीमतकामोबाइलगिराहुआमिला।विद्यार्थियोंनेअपनेशिक्षकोंराजनकुमारऔरआनंदकुमारकोइसमोबाइलबारेजानकारीदी।विद्यार्थियोंनेयहमोबाइलशिक्षकोंकोदेंदियातोकुछसमयबादगुरमीतसिंहमिस्त्रीकाफोनआयातोशिक्षकोंनेपूरीछानबीनकरकेगुरमेलसिंहकोउसकामोबाइलसौंपदिया।इसमौकेगुरमेलसिंहनेविद्यार्थियोंसमेतस्कूलकेसमूहस्टाफकाधन्यवादकियाऔरकहाकियहशिक्षकोंऔरमांबापकेअच्छेसंस्कारोंकानतीजाहै।जिसकीवजहसेमुझेमेरामोबाइलवापसमिलगयाहै।