लखनऊ[राज्यब्यूरो]।उत्तरप्रदेशकेवित्तमंत्रीसुरेशकुमारखन्नानेकहाहैकिकोरोनामहामारीकेबावजूदपिछलेपांचवर्षोंकेदौरानप्रदेशकीअर्थव्यवस्थाकाआकारबढ़ाहै।गुजरेपांचवर्षोंकेदौरानप्रदेशकेसकलराज्यघरेलूउत्पाद(जीएसडीपी)में40प्रतिशतवृद्धिहुईहैजोदेशमेंसर्वाधिकहै।उत्तरप्रदेशकाजीएसडीपीअब17लाखकरोड़रुपयेकेपारपहुंचगयाहै।

सोमवारकोभाजपाकेप्रदेशमुख्यालयमेंमीडियासेमुखातिबवित्तमंत्रीसुरेशकुमारखन्नानेबतायाकिपिछलेपांचवर्षोंमेंउत्तरप्रदेशकाऋण-जमाअनुपातछहप्रतिशतबढ़कर52प्रतिशतहोगयाहै।वित्तीयसमावेशकेतहतपिछलेपांचवर्षोंमेंप्रदेशमें90हजारसेअधिकबैंकिंगआउटलेटखोलेगएहैं।मार्च2022तकप्रदेशमें1,33,938बैंकिंगआउटलेटथे।प्रदेशमेंडिजिटललेनदेनकोभीबढ़ावादियागयाहै।

केंद्रसरकारकीकईयोजनाओंमेंउत्तरप्रदेशकाप्रदर्शनशानदाररहाहै।प्रधानमंत्रीजनधनयोजनामेंयूपीदेशमेंपहलेस्थानपरहै।मार्च2022मेंप्रदेशमेंइसयोजना7.9करोड़लाभार्थीथे।पांचवर्षोंमें3.43करोड़लाभार्थियोंकीवृद्धिहुईहै।प्रधानमंत्रीसुरक्षाबीमायोजनामेंयूपीदेशमेंप्रथमस्थानपरहै।

मार्च2022तकप्रदेशमेंइसयोजनाकेकुल3.73करोड़लाभार्थीथेजोपांचसालपहलेकीसंख्याकीतुलनामें211प्रतिशतअधिकहैं।अटलपेंशनयोजनामेंउप्रप्रथमस्थानपरहै।पिछलेपांचवर्षोंमेंइसयोजनाकेतहत833प्रतिशतकीबढ़ोतरीहुईहै।

प्रधानमंत्रीमुद्रायोजनामेंपिछलेपांचवर्षोंमेंलगातारसौफीसदीसेअधिककीग्रोथमिलीहै।पांचवर्षोंमें2.43करोड़खातोंमें1.32लाखकरोड़रुपयेलोनदिएगएहैं।जबकिपांचवर्षपहलेमार्च2017तकमात्र14,754करोड़रुपयेहीलोनदिएगएथे।प्रधानमंत्रीस्टैंडअपइंडियायोजनामेंभीउप्रदेशमेंपहलेपायदानपरहै।योजनाकेतहत15307लाभार्थियोंको3105करोड़रुपयेकालोनदिलायागयाहै।

प्रधानमंत्रीस्वनिधियोजनामेंउत्तरप्रदेशदेशमेंप्रथमस्थानपरहै।देशके10अग्रणीजिलोंमेंप्रदेशकेछहजिलेलखनऊ(प्रथम),कानपुर(द्वितीय),आगरा(पांचवें),वाराणसी(छठे),मेरठ(नौवें)औरप्रयागराज(दसवें)नंबरपरहै।इसयोजनाकेतहतवित्तीयवर्ष2021-22में8.24लाखआवेदनपत्रोंमेंऋणस्वीकृतकियागयाहै।प्रधानमंत्रीजीवनज्योतिबीमायोजनामेंउप्रदेशमेंदूसरेस्थानपरहै।पिछलेपांचवर्षोंमेंइसयोजनाकेतहत247प्रतिशतकीवृद्धिहुईहै।