गोंडा:स्वर्णजयंतीग्रामस्वरोजगारयोजनाकेवित्तीयवर्ष2008-09मेंहुएघोटालेकाजिन्नएकबारफिरबाहरनिकलआयाहै।योजनाकेतहतबीपीएलपरिवारकेयुवकोंकोहुनरमंदबनानेकेनामपर87.51लाखरुपयेकीधांधलीऑडिटकेदौरानपकड़ीगईहै।योजनाकोबंदहुएपांचवर्षसेअधिकसमयहोचुकाहै।सीडीओनेअबमामलेकीजांचकेआदेशदिएहैं,जिसमेंकईबड़ेअफसरफंससकतेहैं।

गांवोंमेंरहनेवालेबेरोजगारोंकोहुनरमंदबनाकररोजगारकीराहसेजोड़नेकेलिएग्राम्यविकासविभागस्वर्णजयंतीग्रामस्वरोजगारयोजनासंचालितकररहीथी।योजनाकेतहतगरीबीरेखासेनीचेजीवनयापनकरनेवालोंयुवाओंकोचयनितकरकेउनकीरुचिकेअनुसारप्रशिक्षणदेनेकेसाथहीस्वरोजगारकेलिएऋणउपलब्धकरानेकीव्यवस्थाबनाईगईथी।प्रशिक्षणकाआयोजनब्लॉककेसाथहीग्रामपंचायतस्तरपरभीकियाजानाथा।विभागीयऑडिटकेदौरान2008-09मेंखर्चहुए87.51लाखरुपयेकेअभिलेखनहींमिलसके।यहीनहींप्रशिक्षणकाआयोजनकबऔरकहांहुआ,येभीनहींपताचलासका।ऑडिटटीमकीआपत्तिकेबादमामलेमेंकार्यवाहीकेनिर्देशदिएगएथे,लेकिनयेमामलासिर्फकागजोंतकसिमटकररहगया।स्वर्णजयंतीग्रामस्वरोजगारयोजनाकोबंदहुएकरीबपांचवर्षहोचुकेहैं।अबएकबारमामलेकीफाइलखुलगईहै।शिकायतमिलनेपरसीडीओअशोककुमारनेमामलेकीजांचडिप्टीकमिश्नरएनआरएलएमकोसौंपीहै।