लखनऊ,6फरवरी:उत्तरप्रदेशविधानसभाचुनावकाबिगुलबजचुकाहै।सत्ताऔरविपक्षनेपहलेचरणमेंअपनीअपनीताकतझोंकदीहै।हरदलअपनेअपनेहिससबसेदावेतोकररहेहैंलेकिनपश्चिमीयूपीमेंजनताकिसकोसिकंदरबनाएगीयहतोसमयबताएगालेकिनएकबाततोतयहैकिपहलेचरणमेंजोलीडलेगावहउत्तरप्रदेशमेंशेषछहचरणोंमेंचुनावकेलिएटोनसेटकरेगा।इसलिएसभीदलअपनेअपनेहिसाबसेगणितबैठानेमेंजुटेहुएहैं।

बीजेपीकोपिछलीबारपहलेचरणमेंमिलाथानिर्णायकजनादेशपश्चिमउत्तरप्रदेशके11जिलोंशामली,मेरठ,हापुड़,मुजफ्फरनगर,बागपत,गाजियाबाद,बुलंदशहर,अलीगढ़,आगरा,गौतमबुद्धनगरऔरमथुरामें10फरवरीकोमतदानहोगा।2017केविधानसभाचुनावोंमें,भाजपाकोइसक्षेत्रमेंएकनिर्णायकजनादेशमिलाथाऔरउसगतिकोराज्यकेअन्यहिस्सोंमेंआगेबढ़ाया।बीजेपीने2017मेंइसक्षेत्रकी76मेंसे66सीटेंजीतीथीं।समाजवादीपार्टी(सपा)नेचारजीते,बहुजनसमाजपार्टीनेतीनजीते,कांग्रेसनेदोजीतेऔरराष्ट्रीयलोकदलकेवलएकजीतसकाथा।

पांचसालोंमेंबदलीहैपश्चिमीकीतस्वीरपिछलेपांचवर्षोंमेंपरिदृश्यलगभगपूरीतरहसेबदलगयाहै।2013केमुजफ्फरनगरदंगोंकेघावकाफीहदतकठीकहोगएहैंऔरजाट-मुस्लिमदुश्मनीकमहोगईहै।सांप्रदायिकरेखाएंधुंधलीहोगईहैंऔरकिसानएकताअबइसक्षेत्रमेंएकबड़ाकारकहै।वर्तमानपरिदृश्यमेंइसक्षेत्रमेंधार्मिकध्रुवीकरणकीसंभावनानहींहै।भाजपाकृषिकानूनोंकोरद्दकरकिसानोंकोशांतकरनेकीकोशिशकररहीहै,लेकिनउसकेअपनेनेताचुनावकेबादकृषिकानूनोंकोवापसलानेकीघोषणाकररहेहैं।

बीजेपीकेसामनेहैकठिनचुनौतीभाजपाकेलिएयहअबतककठिनरहाहै,जिसकेनेताक्षेत्रकेग्रामीणइलाकोंमेंमतदाताओंकीनाराजगीकासामनाकररहेहैं।एमएसपीगारंटीकीघोषणाकरनेमेंसरकारकीविफलता,गन्नाबकायाकाभुगतान,उर्वरककीकमीऔरआवारापशुओंकीसमस्याऐसेकारकहैंजोसत्तारूढ़भाजपाकेलिएप्रमुखपरेशानहैं।आंदोलनकेदौरानमारेगएकिसानोंकेपरिवारोंकेप्रतिसरकारकीउदासीनताएकअन्यप्रमुखकारकहै।हालांकि,एकसालतकचलेकिसानआंदोलनकासबसेबड़ाराजनीतिकलाभराष्ट्रीयलोकदलहै।

खोईजमीनवापसपानेमेंजुटेहैंजयंतरालोदअध्यक्षजयंतचौधरीनेआंदोलनकेदौरानकिसानोंकोसक्रियसमर्थनदेकरजाटसमुदायकेबीचखोईहुईजमीनकोकाफीहदतकवापसपानेमेंकामयाबीहासिलकीहै।जयंतगांवोंकादौराकरतेरहेहैं,खापबैठकोंमेंभागलेतेरहेहैंऔरजाटनेताओंकेसाथनिकटतासेबातचीतकरतेरहेहैं।पिछलेसालमईमेंचौधरीअजीतसिंहकेनिधननेभीजयंतकेलिएपर्याप्तसहानुभूतिलाईहैऔरउनकीपार्टीपश्चिमयूपीमेंराजनीतिकवापसीकरनेकेलिएतैयारहै।

जाटहीतयकरेंगेसपा-रालोदकाभविष्यसमाजवादीपार्टीइसबारराष्ट्रीयलोकदलकेसाथमिलकरचुनावलड़रहीहै।इसने2017मेंकांग्रेसकेसाथगठबंधनकियाथा,लेकिनज्यादाप्रगतिनहींकरसकाक्योंकिजाटोंनेतबभाजपाकोचुनाथाक्योंकिमुजफ्फरनगरदंगोंकेघावअभीभीताजाथे।सपाइसबाररालोदकीबढ़तीलोकप्रियताकेग्राफकीवजहसेसमझौताकरनेकोतैयारहोगयाहै।पश्चिमीउत्तरप्रदेशकेकईहिस्सोंमेंयहसाझेदारीभाजपाकोकड़ीटक्करदेसकतीहै।

शिवपालकेसाथआनेसेमिलेगीअखिलेशकोमददइसकेअलावा,सपाप्रमुखअखिलेशयादवकेचाचाशिवपालयादवसमाजवादीपार्टीकेसाथगठबंधनमेंचुनावलड़ेगेऔरइससेउनकेप्रमुखवोटबैंकमेंविभाजनसेबचनेमेंमददमिलेगी।एककारकजोपहलेचरणमेंसमाजवादीपार्टीकोपरेशानकरसकताहै,वहहैअसदुद्दीनओवैसीकीऑलइंडियामजलिस-ए-इत्तेहाद-उल-मुस्लिमीन(एआईएमआईएम)कीएंट्री।यहपार्टीकईनिर्वाचनक्षेत्रोंमेंमहत्वपूर्णभूमिकानिभासकतीहैक्योंकिइसक्षेत्रमेंमुस्लिमआबादीलगभग26प्रतिशतहै।

येभीपढ़ें:-पांचसालमेंदोगुनीहुईखेलकूदराज्यमंत्रीउपेंद्रतिवारीकीसंपत्ति,दौड़तेहुएपहुंचेथेनामांकनस्थलतक

क्यामुस्लिमवोटबैंकमेंसेंधलगाएगीएआईएमआईएमअगरएआईएमआईएममुस्लिमवोटोंयावोटोंकेएकवर्गकोभीछीननेमेंसफलहोजातीहैतोएसपी-आरएलडीगठबंधनउम्मीदकेमुताबिकप्रदर्शननहींकरसकताहै।पश्चिमीयूपीमेंपहलाचरणबहुजनसमाजपार्टीकेलिएभीमहत्वपूर्णहैक्योंकिइसक्षेत्रकोकभीपार्टीकागढ़मानाजाताथा।इसबारभीमआर्मीकेउभरनेसे,जोआजादसमाजपार्टीकेरूपमेंचुनावलड़रहीहै,इससेबसपाकोनुकसानहोनातयहै।